- पीएस से कहा-9 हजार में नहीं चलता गुजारा कम से कम 18 तो दीजिए

पीएस से कहा-9 हजार में नहीं चलता गुजारा कम से कम 18 तो दीजिए

- मप्र अतिथि स्पेशल एजुकेटर संघ ने सौंपा ज्ञापन भोपाल मध्य प्रदेश अतिथि स्पेशल एजुकेटर (विशेष शिक्षक) संघ के पदाधिकारियों ने स्कूल शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी से मुलाकात कर मानदेय बढ़ाने सहित अन्य सुविधाएं देने की मांग की है। विशेष शिक्षकों ने साफ कहा कि 9 हजार के मानदेय में जरूरतें पूरी नहीं होती हैं, कम से कम अतिथि शिक्षक वर्ग-एक के समान 18 हजार रुपए तो दिए जाएं। इन शिक्षकों ने अपनी व्यथा बताते हुए कहा कि समावेशित शिक्षा के माध्यम से दिव्यांग छात्रों का समाज की मुख्य धारा से जोड़ रहे हैं। उनकी आवश्यकता के अनुसार अध्यापन कार्य कराते हैं। वर्तमान में हमारा मानदेय 9 से 11 हजार रुपए है, जबकि अन्य राज्यों में 15 से 20 हजार रुपए प्रतिमाह दिया जा रहा है। इतनी कम राशि में 50 से 100 किमी दूर जाकर पढ़ाना पड़ता है, आने-जाने पर ही 8 हजार रुपए खर्च हो जाते हैं। शेष 3 हजार से परिवार का भरण-पोषण कैसे करें। संघ की मांगें ... अतिथि शिक्षक वर्ग-एक के समान 18 हजार रुपए मानदेय दिया जाए। गर्मी की छुट्टी में बेरोजगार न करें, 12 माह का कार्यकाल माना जाए। पिछले सत्र का अनुभव प्रमाण पत्र और बोनस अंक दें, जीएफ/एमएक्स पोर्टल पर ज्वाइनिंग हो। स्थाई पदों की भर्ती में प्राथमिकता दी जाए। स्पेशल एजुकेटर के संदर्भ में कोर्ट की गाइड लाइन का पालन करें। बीए एवं बीएड के 100 अंश स्कोर कार्ड में दिए जाएं। जनजाति कार्य विभाग के स्कूलों में सेवाएं ली जाएं।

Comments About This News :

खबरें और भी हैं...!

वीडियो

देश

इंफ़ोग्राफ़िक

दुनिया

Tag